इसरायली जेलों में बन्द निर्दोष फिलिस्तीनियों की भूख हड़ताल के समर्थन में भारत में जगह जगह सांकेतिक भूख हड़ताल।

भारत की अनेक यूनिवर्सिटियों में इसरायली जेलों में बन्द निर्दोष फिलिस्तीनी नागरिकों द्वारा जारी भूख हड़ताल के समर्थन में छात्रों द्वारा सांकेतिक भूख हड़ताल का दौर जारी है। आज शाम को 6 बजे से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र यूनियन के अध्यक्ष फैज़ुल हसन के नेतृत्व में अनेक छात्रों ने 24 घण्टे की भूख हड़ताल शुरू की।

24 मई को शाम 6 बजे 24 घण्टे पूरे होने पर एक मार्च भी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अंदर निकाला जाएगा जिसमे वरिष्ठ प्रोफेसर भी शामिल होंगे। इस से पहले 21 मई को बनारस में बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में छात्रों ने सांकेतिक भूख हड़ताल के जरिये फिलिस्तीनी लोगों को अपना समर्थन दिया।

इस सांकेतिक भूख हड़ताल के अभियान की शुरुआत 17 मई को नई दिल्ली में अभिमन्यु कोहाड़ और अशरफ ज़ैदी द्वारा 30 घण्टे की भूख हड़ताल कर के की गयी थी।

इस अभियान के तहत अब तक 100 से भी अधिक छात्र भूख हड़ताल कर चुके हैं जिनमे से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ के अध्यक्ष फैज़ुल हसन, कैबिनेट मेंबर वसील, गज़ाला अहमद, मुहम्मद कामिल वाकिल, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के राष्ट्रीय समता परिवार के अमरेंद्र प्रताप, विजेंदर मीना, राजीव मौर्या और युवा क्रांति के श्याम यदुवंशी और रजत सिंह मुख्य हैं। सभी छात्रों की मांग ये है कि फिलिस्तीनी लोगों को उनका हक़ मिलना चाहिए और फिलिस्तीनी लोगों पर इजराइल द्वारा की जाने वाली ज्यादतियों पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा रोक लगायी जानी चाहिए।

Leave a Comment